PM Kisan Maandhan Yojana: किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी; सरकार हर महीने देगी 3000 रुपये, ऐसे करें अप्लाई

PM Kisan Maandhan Yojana: किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी; सरकार हर महीने देगी 3000 रुपये, ऐसे करें अप्लाई

पीएम किसान मानधन योजना किसानों को सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाने के लिए सरकार उन्हें हर महीने तीन हजार रुपये मासिक पेंशन देगी. अगर आप भी इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं तो इस काम को जल्द से जल्द पूरा करें।

सरकार समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं चला रही है, उनमें से एक है पीएम किसान मानधन योजना। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना बुजुर्गों की सुरक्षा और छोटे/सीमांत किसानों (एसएमएफ) को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए बनाई गई एक सरकारी योजना है।

यह एक स्वैच्छिक और अंशदायी पेंशन योजना है, जिसके तहत 60 वर्ष की आयु तक पहुंचने पर प्रति माह 3,000 रुपये पेंशन के रूप में दिए जाएंगे। यदि लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है, तो उसका पति/पत्नी पेंशन का 50 प्रतिशत पारिवारिक पेंशन के रूप में प्राप्त करने का हकदार होगा। कृपया ध्यान दें कि यह पारिवारिक पेंशन केवल जीवनसाथी पर लागू होती है।

क्या है इस योजना की पात्रता

छोटे और सीमांत किसान, जिनके पास 2 हेक्टेयर तक खेती योग्य भूमि है और जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष के बीच है, इस योजना के लिए पात्र हैं। किसान मानधन वेबसाइट के अनुसार 1 अगस्त 2019 तक ऐसे किसानों का नाम राज्य के भूमि अभिलेखों में भी होना चाहिए। योजना के लिए आवेदन करने वाले किसानों की मासिक आय 15,000 रुपये या उससे कम होनी चाहिए।

किसान के पास आधार कार्ड और बचत बैंक खाता या जन धन खाता होना चाहिए। लाभार्थी को 60 वर्ष की आयु तक हर महीने 55 से 200 रुपये जमा करने होंगे। किसान 60 वर्ष की आयु के बाद पेंशन राशि के लिए दावा प्रस्तुत कर सकता है।

कैसे करें योजना के लिए रजिस्टर

  • पास के कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर जाएं।
  • नामांकन प्रक्रिया के लिए आधार कार्ड, बैंक पासबुक,चेक या बैंक स्टेटमेंट साथ लेकर आएं।
  • योजना में नामांकन करते समय जो पैसा ग्राम स्तरीय उद्यमी (वीएलई) को दिया जाएगा।
  • वीएलई आधार संख्या, लाभार्थी का नाम और जन्म तिथि को वेरिफिकेशन करेगा।
  • वीएलई बैंक खाता विवरण, मोबाइल नंबर, ईमेल और अन्य पारिवारिक जानकारियां भरकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को पूरा करेगा।
  • ऑटोमैटिक सिस्टम लाभार्थी की आयु के अनुसार इस बात की काउंटिंग करेगा कि कितनी मासिक पेंशन बनती है।
  • एक यूनीक किसान पेंशन खाता संख्या (KPAN) जनरेट होगी और किसान कार्ड प्रिंट हो जाएगा।

पीएम किसान पेंशन के लिए कौन पात्र नहीं है

  • ऐसे लोग जो राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस), कर्मचारी राज्य बीमा निगम योजना, कर्मचारी निधि संगठन योजना आदि जैसी किसी अन्य सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ उठा रहे हैं।
  • वे किसान जिन्होंने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना या राष्ट्रीय पेंशन योजना का लाभ उठा रहे हैं।
  • डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट, आर्किटेक्ट, पेशेवर लोग और सरकारी कर्मचारी, चाहे उनके पास खेती के लिए जमीन ही क्यों न हो, इस योजना के पात्र नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.